Thursday , November 21 2019
Breaking News
Home / अध्यात्म / दशलक्षण महापर्व में भक्तों ने किया उत्तम क्षमा धर्म का पूजन संवत्सरि प्रतिक्रमण के साथ पयुर्षण पर्व का हुआ समापन

दशलक्षण महापर्व में भक्तों ने किया उत्तम क्षमा धर्म का पूजन संवत्सरि प्रतिक्रमण के साथ पयुर्षण पर्व का हुआ समापन

भिलाई। त्रिवेणी जैन तीर्थ सेक्टर-6 में आज दशलक्षण महापर्व में भक्तों ने उत्तम क्षमा धर्म दिवस के अवसर पर श्री 1008 पाश्र्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर सेक्टर-6 में श्री पाश्र्वनाथ दिगंबर जैन सभा के भक्तों द्वारा श्री 1008 पाश्र्वनाथ भगवान श्री आदिनाथ भगवान का मंगल अभिषेक किया। इस अवसर पर परमपूज्य आचार्य 108 श्री विमर्स सागर महाराज की परम शिष्या आर्यिका विद्वांत श्री माता जी एवं आर्यिका विजयांत श्री माताजी के मंगल आशीर्वाद व सानिध्य में उनके अमृत वचनों से शांतिधारा का सौभाग्य दीपचंद, भारत गोधा, दीपक काला को मिला।
आज उत्तम क्षमा धर्म दिवस के मंगल अवसर पर परमपूज्य आर्यिका माता जी ने कहा कि जैन धर्म में दशलक्षण पर्व में उत्तम क्षमा धर्म का दिन आप सभी अपने जीवन को राग द्वेश से परे हटकर अपने जीवन में प्रेम और अहिंसा और शांति के साथ जीवन यापन करते हुए अपना आत्मकल्याण करें। आर्यिका माता जी ने कहा कि उत्तम क्षमा का सार है कि जन्म से लेकर मोक्ष तक की इस अनंत यात्रा का अंत करने की पहली सीड़ी क्षमा है। तो आईए आप सभी से क्षमा याचना करके एवं सभी से क्षमा मांगकर इस मोक्ष सीड़ी में पहला कदम रखना चाहता हूं, गलतियां अपार आपके पास है क्षमा का अधिकार कर लीजिए स्वीकार।
आज भक्तों ने दशलक्षण धर्म के उत्तम क्षमा धर्म का पूजन आराधना जैन भवन के प्रांगण में भक्ति भाव के साथ करते हुए मंगल आरती की। अभिषेक करने वालों में ज्ञानचंद बाकलीवाल, महावीर प्रकाश निगोतिया, प्रशांत जैन, प्रदीप जैन बाकलीवाल, सुनील जैन, मुकेश Jain ,
Mukesh बाकलीवाल, वरूण जैन, अनिल जैन, प्रमोद नाहर, महेन्द्र जैन, निशांत जैन, परमानंद जैन, संतोष जैन आदि शामिल रहे। महिलाओं ने सपरिवार दशलक्षण धर्म का पूजन आरती की।
आज पयुषण पर्व के सामापन पर श्री जैन श्वेतांबर स्थानकवासी श्रीसंघ द्वारा संध्या 6 बजे संवत्सरी प्रतिक्रमण श्री त्रिवेणी जैन तीर्थ में किया। आपस में एक दूसरे से क्षमा याचना की। इस अवसर पर नमोकार मंत्र का जाप भी किया गया। जिसमें प्रमुख रूप से बाबूला सेठिया, पुखराज जैन, महावीर बेगानी, महावीर सुराना, शांतिलाल टाटिया, गौतम चंद टाटिया, राजेश मारूति, भावेश शाह, शैलेश शाह, पूनम बेगानी, संतोष मोदी, आनंद कोचर आदि उपस्थित रहे।
4 सितंबर को दशलक्षण पर्व के उत्तम मार्धव धर्म का पूजन होगा। जानकारी देते हुए मीडिया प्रभारी प्रदीप जैन बाकलीवाल ने बताया कि 4 सितंबर को सुबह 6.30 से 8.30 सामूहिक अभिषेक, शांतिधारा पूजन, आरती होगी। इसके बाद पूज्य आर्यिका माता जी के मंगल प्रवचन होंगे। संध्या 6.30 बजे से रात 8 बजे तक भक्ति आरती होगी। रात्रि 8.30 से 8.45 तक मंगल प्रवचन होंगे। तत्पश्चात अंताक्षरी एकल ग्रुप में होगा ।

About rajendraadmin

Check Also

मात्र चाहने से संसार में किसी की इच्छाएं पूर्ण नहीं होती: आचार्य श्री विमर्श सागर महाराज

भिलाई। श्री त्रिवेणी जैन तीर्थ सेक्टर-6 के श्री 1008 पाश्र्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में श्री …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *