Saturday , September 21 2019
Breaking News
Home / खास खबर / 90 करोड़ एटीएम बंद करने जा रही एसबीआई

90 करोड़ एटीएम बंद करने जा रही एसबीआई

नई दिल्ली। भारत की सबसे बड़ी सरकारी बैंक Biggest Government Bank स्टेट बैंक ऑफ इंडिया State Bank of India जल्द ही अपने 90 करोड़ एटीएम कार्ड 90 crore ATM Card को बंद करने जा रही है। SBI के करोड़ों खाताधारकों को बैंक के इस फैसले से बढ़ा झटका लगने वाला है। एसबीआई ने प्लास्टिक डेबिट कार्ड Plastic Debit card of SBI बंद करने का फैसला कर लिया हैं। एसबीईआई बैंक की योजना एटीएम कार्ड बंद कर डिजिटल पेमेंट सेवा Digital payment Service को बढ़ावा देने की है। इसी योजना के तहत बैंक 90 करोड़ एटीएम कार्ड को बंद करने की तैयारी कर रहा है।

जल्दी बंद हो जाएंगे SBI के 90 करोड़ डेबिट कार्ड :

स्टेट बैंक के चेयरमैन रजनीश कुमार chairman of SBI ने बताया है कि उनकी योजना है कि जल्द ही डेबिट कार्ड को विड्रा करने की है। तय अनुमान के मुताबिक SBI 18 महीनों में अपने सभी 90 करोड़ डेबिट कार्ड को बंद करने की तैयारी कर रहा है। एसबीआई के इस फैसले के बाद SBI खाताधारक एटीएम का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। इसके बाद सिर्फ डिजिटल पेमेंट सर्विस Digital payment Service काम करेगी।

देश में 90 करोड़ डेबिट कार्ड और 3 करोड़ क्रेडिट कार्ड हैं। एसबीआई का लक्ष्य है कि 18 महीने बाद सभी ATM कार्ड को बंद कर दिया जाए। ऐसे में सवाल उठता है कि इसके बाद आप कैश कैसे निकालेंगे।

यूं निकाल पाएंगे ATM से पैसे:

एसबीआई द्वारा 90 करोड़ एटीएम कार्ड बेकार किए जाने के बाद सबसे पहला सवाल यहीं उठ रहा है कि आखिर इसके बाद SBI खाताधारक पैसा कैसे निकालेंगे। इसे लेकर एसबीआई के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि एसबीआई खाताधारक डिजिटल पेमेंट गेटवे ‘YONO’ प्लेटफॉर्म की मदद से कैश निकाल सकेंगे। उन्होंने कहा योनो एप की दद से डेबिट कार्ड मुक्त देश बनाने में काफी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा योनो के जरिये ATM मशीनों से नकदी निकाली जा सकेगी। इसकी मदद से लोग शॉपिंग कर सकेंगे। इसके लिए बैंक ने तैयारी की है। पहले से ही 68,000 ‘योनो कैशपॉइंट’ की स्थापित कर दिया है। इसे अगले 18 महीनों में बढ़ाकर 10 लाख करने की योजना है।

आखिर क्या है योनो सेवा:

एसबीआई ने इसी साल मार्च में ‘योनो कैश’ सेवा शुरू की है। इस एप की मदद से लोग बिना डेबिट कार्ड के पैसे निकालने सकते हैं। ये एप बेहद सुरक्षित है और आसान है। रजनीश कुमार के मुताबिक आने वाले वक्त में ग्राहकों के लिए क्रेडिट कार्ड उनकी जेब में स्टैंड-बॉय के तौर पर होगा। लोगों को प्लास्टिक कार्ड रखने की जरूरत नहीं होगी। उन्होंने कहा फिलहाल भी क्यूआर कोड भुगतान करने के लिए बेहद सुरक्षित और सुविधाजनक तरीका है। बैंक ने योनो एप के जरिए कैश निकालने की सुविधा पहले 16,500 एटीएम पर करवाई थी, लेकिन अब उसे सभी एटीएम पर अपग्रेड करवाया जा रहा है।

About rajendraadmin

Check Also

मेयर ने ली बच्चों की क्लास

भिलाई। शहर में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। ऐसे में मेयर देवेंद्र …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *