Thursday , November 21 2019
Breaking News
Home / मनोरंजन / ‘सांड की आंख’ देखने के लिए ये हैं 5 सॉलिड रीजन

‘सांड की आंख’ देखने के लिए ये हैं 5 सॉलिड रीजन

तापसी पन्‍नू और भूमि पेडनेकर स्‍टारर ‘सांड की आंख’ रिलीज होने वाली है। जब फिल्‍म इंडस्‍ट्री से जुड़े लोगों के लिए इसकी स्‍क्रीनिंग हुई तो ऐक्‍टर्स की परफॉर्मेंस ने सभी को प्रभावित किया। रिलीज से पहले हम आपको बता रहे हैं कि किन वजहों से आपको भी यह फिल्‍म देखनी चाहिए…फिल्‍म में तापसी और भूमि ऐसी महिलाओं का रोल निभा रही हैं जो उनकी उम्र से दोगुनी हैं। जब फिल्‍म का ट्रेलर रिलीज हुआ था, फैंस ने दोनों ऐक्‍टर्स की काफी प्रशंसा की थी कि उन्‍होंने बेहतरीन तरह से खुद को कैरक्‍टर में ढाला है। वहीं, कुछ लोगों ने दोनों ऐक्‍ट्रेसेस को यह कहते हुए क्रिटिसाइज किया कि फिल्‍म में सीनियर ऐक्‍ट्रेसेस को कास्‍ट किया जाना चाहिए था। इस मुद्दे पर सोशल मीडिया पर काफी चर्चा हुई है। फिल्‍म भारत की सबसे बुजुर्ग शॉर्पशूटर्स प्रकाशी तोमर और चंद्रो तोमर की जिंदगी पर बेस्‍ड है। दादियों ने शूटिंग को अपना प्रफेशन 60 की उम्र में बनाया। इस उम्र में लोग रिटायर हो जाते हैं लेकिन दोनों ने बंदूक उठाई और दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला शॉर्पशूटर्स का रेकॉर्ड बनाया। उन्‍होंने अलग-अलग कॉम्पिटिशन में कई सारे गोल्‍ड मेडल्‍स जीते। फिल्‍म देखकर आपको पता चलेगा कि कैसे इन बहादुर महिलाओं को जिंदगी में मुश्‍किलों का सामना करना पड़ा।

इस फिल्‍म के जरिए पहली बार स्‍क्रीन पर तापसी पन्‍नू और भूमि पेडनेकर एकसाथ नजर आएंगी। जब फिल्‍म की कास्टिंग के बारे में डायरेक्‍टर तुषार हीरानंदानी से पूछा गया तो उन्‍होंने कहा था कि दोनों ऐक्‍ट्रेसेस फिल्‍म की शुरुआती ट्रेनिंग से लेकर आखिर तक पूरे दिल से कैरक्‍टर्स में ढल गईं। अपने असल पोटेंशल को जानने के लिए यह फिल्‍म दोनों ऐक्‍ट्रेसेस के लिए पर्फेक्‍ट प्‍लैटफॉर्म है।

5/6

About rajendraadmin

Check Also

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव 2019, फ्रांस अभिनेत्री इसाबेल हूपर्ट होगी लाइफ टाइम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित

नई दिल्ली। भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) 2019 के स्वर्ण जयंती समारोह में अपनी पीढ़ी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *