Thursday , November 21 2019
Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ / कसारीडीह व पुलगांव लूट के वारदात का पर्दाफाश

कसारीडीह व पुलगांव लूट के वारदात का पर्दाफाश

दुर्ग। शहर के कसारीडीह चौक स्थित साई द्वार के पास एवं पुलगांव चौक में हुए लूट के वारदात को सुलझाने में दुर्ग पुलिस ने सफलता हासिल की है। इस मामले में आरोपी फैजान अहमद 23 वर्ष पिता फाजुद्दीन केलाबाड़ी व नामदेव निर्मलकर 23 वर्ष पिता मोहन निर्मलकर साहू सदन के पास केलाबाड़ी निवासी को गिरफ्तार किया गया है। जिनके कब्जे से लूट की मोबाइल फोन, नगदी रकम, चाकू, मोटर सायकल व अन्य सामान बरामद किए गए है। दोनो आरोपी नशा के आदी थे और नशे में वारदात को अंजाम देते थे। आरोपियों ने डॉक्टर अशोक कुमार सोनी केलाबाड़ी और सुरेश कुमार नायर सेक्टर-7 भिलाई निवासी को लूट का शिकार बनाया था। एक के बाद एक दो अलग-अलग क्षेत्रों में हुई लूट की वारदात से हरकत में आई पुलिस ने दोनों आरोपियों को धरदबोचा। लूट के वारदातों का खुलासा करते हुए एडीशनल एसपी शहर रोहित झा एवं दुर्ग सीएसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि 13 अक्टूबर की सुबह 5 बजे साई द्वार कसारीडीह के पास एक रिटायर्ड डॉक्टर अशोक कुमार सोनी से मोबाइल व पैसे की लूट की घटना हुई थी। दूसरे दिन दोपहर 3 बजे पुलगांव चौक के पास एटीएम से पैसे निकाल रहे पेशे से ड्रायवर सुरेश कुमार नायर पर चाकू से हमला कर पैसे लूटने की कोशिश की गई। दोनों वारदातों के मद्देनजर अपराधियों के धरपकड़ के लिए पुलिस अधीक्षक प्रखर पांडेय के निर्देश एवं उप पुलिस अधीक्षक क्राईम प्रवीरचंद्र तिवारी के मार्गदर्शन में पुलिस टीम गठित कर पतासाजी शुरु की गई। दोनों घटनाओं में एक पतले दुबले दाढ़ी रखे हुए 20-22 साल के लड़के का जिक्र सामने आया। दोनों ही वारदात के वक्त आरोपी ने अपना चेहरा गमछे से ढके हुए थे। पुलगांव चौक की वारदात के दौरान प्रार्थी सुरेश कुमार नायर ने चाकू से वार करने पर हाथ से बचाते हुए आरोपी के चेहरे पर बंधे हुए गमछे को खीच लिया था, जबकि कसारीडीह वाली घटना में डॉक्टर दंपत्ति ने बताया कि आरोपी लड़का चेहरे में गमछा बांधे हुए और लूटने के उद्देश्य से उनके घर तक आए थे। लड़के के हुलिए व आंख एवं आवाज से डॉक्टर को उनके मोहल्ले में रहने वाले फैजान अहमद के होने का शक भी हुआ था। पुलिस द्वारा लगातार जांच पड़ताल करने के दौरान डॉक्टर के मोहल्ले में रहने वाले फैजान अहमद के लगातार नशाकर नशेड़ी लड़कों के साथ घूमते रहने की जानकारी मिली। संदेह के आधार पर फैजान अहमद को पकड़कर पूछताछ किया गया। काफी मशक्कत के बाद उसके द्वारा अपने साथी नामदेव निर्मलकर के साथ मिलकर दोनों वारदातों को अंजाम देना स्वीकार किया गया। आरोपियों से लूट के मोबाइल, नगदी व वारदात में इस्तेमाल किया मोटर सायकल, चाकू बरामद कर लिए गए है। मुख्य आरोपी फैजान अहमद दसवी तक की पढ़ाई किया है। वह एक व्यापारी परिवार से ताल्लुुक रखता है। आरोपी द्वारा गलत संगति में पड़कर परिवार वालों से नजायज मांगे की जाती थी। घर वालों द्वारा पूर्ति न किये जाने पर पैसे के लिए अपने साथी के साथ लूट की घटना करना स्वीकार किया। दोनों आरोपियों को मंगलवार को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर भेजा गया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी दुर्ग निरीक्षक सुरेश धु्रव, थाना प्रभारी पुलगांव निरीक्षक उत्तर कुमार वर्मा, उप निरीक्षक हर प्रसाद पांडेय, प्र.आर. नरेन्द्र सिंह, आरक्षक खुर्रम बख्श, आरक्षक भीम सिंह यादव, आरक्षक सुरेश ध्रुव, आरक्षक सुरेन्द्र साहू थाना दुर्ग का योगदान रहा। पुलिस अधीक्षक प्रखर पांडेय ने पुलिस टीम के कार्यो की प्रशंसा की है।

About rajendraadmin

Check Also

विज्ञापन के माध्यम से झांसा

दुर्ग ।मामला मोहन नगर थाना क्षेत्र का है। शंकर नगर के जागृति चौक निवासी राहुल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *